Essay on Independence day in Hindi- 15 अगस्त पर निबंध हिंदी में

Spread the love of festival

Independence Day- हम सभी को पता है की 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रेजो से आजादी मिली थी, तब से ही हर वर्ष 15 अगस्त को भारत में स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) मनाया जाता है। इस दिन भारत के प्रधानमंत्री लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फैहराते है। इस पोस्ट में हम 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Essay on Independence day in Hindi) के बारे में जानेंगे।

भारत के राष्ट्रीय पर्व – National Day/Holiday in India

भारत में कुल मिलकर 3 राष्ट्रीय पर्व (National Holiday in India) होते है। 

1) स्वतंत्रता दिवस- Independence Day on 15th August

2) गड्तंत्र दिवस- Republic Day on 26th January

3) गाँधी जयंती- Mahatama Gandhi Jayanti on 2nd October

इस तीनो दिन भारत में राष्ट्रीय अवकाश (National Holiday) रहता है। इस पोस्ट में हम केवल बात करेंगे स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) की, जो पुरे भारत में हर साल 15 अगस्त (15 August) को मनाया जाता है। 

ये भी पढ़े- Independence day speech for kids- 15 August Speech in Hindi

15 अगस्त पर निबंध हिंदी में- Essay on Independence day in Hindi

Essay on Independence day- 15 अगस्त के उपलक्ष में स्कूलों में बहुत सी प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है जिसमे कविता, भाषण और निबंध इत्यादि का आयोजन किया जाता है। अगर आप या कोई छात्र 15 अगस्त (15 August) पर निबंध लिखने या फिर भाषण देने की सोच रहा है तो ये पोस्ट आपके लिए है।

यहाँ से देखकर आप हैडिंग के साथ स्वतंत्रता दिवस पर निबंध लिख सकते है और 15 अगस्त (15 August) पर भाषण की तैयारी भी कर सकते है।

स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाया जाता है- Why Independence Day is celebrated in India

Why Independence Day is celebrated- यह दिन भारत के लोगो के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है, इस दिन 1947 में भारत को बिट्रिश साम्राज्य से आजादी मिली थी। वर्ष 1947 में 15 अगस्त के दिन (15th August 1947) बिट्रिश साम्राज्य से अपनी आजादी के जश्न में 15 अगस्त यानि स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) मनाया जाता है।

जरूर पढ़े- अगस्त में और भी होंगे व्रत और त्यौहार, जरूर जान ले सभी की तारीख और नाम

उस समय अंग्रेजो से आजादी लेना कोई आसान काम नहीं था, वही दूसरी तरफ हमारे देश के स्वतंत्रता सेनानी, राजनितिक नेता और भारत के लोग देश को आजाद करने के लिए लड़ते रहे और आखिरकार उन्होंने अपने द्रढ़निष्य से देश को अंग्रेजो की कैद से आजाद करा लिया।

1947 में लोगों ने अपने आराम और अपनी स्वतंत्रता को छोड़कर देश की स्वतंत्रता के बार में सोचा, जिसकी वजह से हम आज आजाद पंछी की तरह अपने देश में रहते है। 

स्वतंत्रता दिवस का महत्व- What is the significance of Independence Day

Significance of Independence Day- स्वतंत्रता दिवस अपने आप में भारतीयों के लिए एक विशेष महत्त्व रखता है, यह दिन हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को हमे याद दिलाता है। भारत को स्वतंत्रता दिलाने में महात्मा गाँधी, शहीद भगत सिंह, बाल गंगाधर तिलक, रानी लष्मी बाई, सुभाषचंद्र बोस जैसे स्वतंत्रता सेनानियों का विशेष योगदान रहा है। इनका बलिदान हम कभी भी नहीं भूल सकते।

स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) को आजादी दिवस के रूप में मनाया जाता है, इसलिए यह दिन हमारी सादगी और वास्तविकता के करीब होने के महत्व को भी दर्शाता है। यह हमें ऊँची उड़ान भरने और स्वतंत्रता को महसूस करने के बावजूद, बुनयादी रहने के लिए प्रेरित करता है।

स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को ही क्यों मनाया जाता है- Why do we celebrate Independence Day on 15 August 

क्या आपने सोचा है की देश की आजादी के लिए 15 अगस्त (15 August) को ही क्यों चुना गया, अगर नहीं पता तो चलिए हम बताते है। 

Why do we celebrate Independence Day on 15 August- इस बारे में बहुत से इतिहासकारो की धारणाएं अलग अलग है। कुछ का मानना है की सी राजगोपालाचारी जी के कहने पर माउण्टबेंटन ने भारत की आजादी के लिए 15 अगस्त (15 August for Independence day in India) की तारीख चुनी थी, साथ ही उन्होंने कहा था की अगर 30 जून 1948 तक इंतज़ार किया गया तो हस्तांतरित करने के लिए कोई सत्ता नहीं बचेगी। ऐसे में 15 अगस्त 1947 को ही भारत की स्वतंत्रता के लिए चुना गया। 

वही कुछ इतिहासकारों का मानना है की माउण्टबेंटन को 15 अगस्त (15 August) की तारीख को ही शुभ मानते थे, इसलिए उन्होंने 15 अगस्त को ही चुना था।


Spread the love of festival

Leave A Reply

Your email address will not be published.