Karwa Chauth for husband and wife- इस दिन पति पत्नी जरूर करें ये जरुरी काम

Spread the love of festival

Karwa Chauth- करवाचौथ का व्रत कार्तिक हिन्दू माह में कृष्णा पक्ष की चतुर्थी के दिन मनाया जाता है। करवा करवाचौथ का इंतज़ार हर एक भारतीय सुहागन करती है, जिसे हिन्दू रीती रिवाजो में कई मायनो में खास मन जाता है। इस पोस्ट में हम जानेगे की ऐसे कौन से काम है जो करवाचौथ पर पति और पत्नी (Karwa Chauth for husband and wife) दोनों की जरूर करने चाहिए। 

इस दिन महिलाये अपनी पति की लम्बी आयु के लिए सुबह से लेकर शाम तक निर्जला व्रत (Karwa Chauth Vrat) रखती है। आज कल तो तेजी से बढ़ रहे भारतवर्ष में कुछ पुरुष तो अपनी पत्नी के लिए भी करवाचौथ का व्रत (Karwa Chauth Vrat) रखते है।

करवाचौथ के व्रत में शिव, पार्वती, कार्तिकेय, गणेश जी तथा चन्द्रमा की पूजा की जाती है। इस दिन सूर्योदय से ही महिलाये निर्जला व्रत रखती है और रात को चन्द्रमा को अर्घ्य देकर ही अपना व्रत खोलती है।

पति पत्नी जरूर करें ये जरुरी काम- Karwa Chauth for husband and wife

इस दिन महिलाएं करे ये जरुरी काम– Karwa Chauth for wife

👉 अगर आप अपने दांपत्य जीवन को खुश रखना चाहते है तो करवा चौथ (Karwa Chauth Vrat) के दिन महिलाओ को गणेश जी को गुड़ चढ़ाना चाहिए क्योकि इससे उसके जीवन में हमेशा मिठास घुली रहेगी। 

👉 अगर दोनों पति पत्नी के बीच लगातार झगड़ा रहता है तो इससे छुटकारा पाने के लिए करवाचौथ (Karwa Chauth Vrat) के दिन झाड़ू की दो सीको को उल्टा और सीधा क्रम में रखे और अब इन्हे नीले धागे से बांधकर घर के दक्षिण-पश्चिम दिशा में रख दे। अगर आप ऐसा करते है`तो वैवाहिक जीवन में सुधार आएगा। 

नवंबर माह में और भी बहुत से व्रत और त्यौहार- जरूर जान ले सभी की तारीख और नाम

👉 कहा जाता है की अगर आप चाहती है की आपका पति आपसे हमेशा प्यार करे और आपको कभी धोखा न दे तो करवाचौथ (Karwa Chauth) के दिन लाल कागज पर सुनहरे पैन से अपने पति का नाम लिखे और फिर उसे एक लाल कपडे में दो गोमती चक्र और 50 ग्राम पिली सरसो के साथ रख ले। इसके बाद पोटली को छिपाकर रख दे। बाद में एक साल बाद उसे किसी नदी में प्रवाहित कर दे। ऐसा कहा जाता है की ऐसा करने से आपका पति यक़ीनन आपकी बात मानेगा।

इस दिन पुरुष करे ये जरुरी काम– Karwa Chauth for Husband

👉 करवाचौथ के दिन पति यह बात ध्यान में रखे की जितना महत्व पूजा का होता है उससे कही ज्यादा करवाचौथ (Karwa Chauth) की कथा का होता है, जिसे उन्हें बहुत ही दयँ से सुन्ना चाहिए और इस कथा में सबसे पहले गणेश वंदना होती है और बाद में कथा।

👉 पति पत्नी के बीच का जन्म जन्म का प्यार जब ही जीवित रह सकता है जब आपने वादे पूरा करने की कसम खाई हो व उसे साकार रूप प्रदान किया हो। अपनी ही जीवन साथी से धोका करना अपने आप से बेईमानी करने जैसा है, जिससे आपके विश्वास को ठेस पहुँचती है। अगर आपने साचे दिल से व्रत रखा होगा तो असली व्रत का महत्व जब ही प्राप्त होगा अन्यथा नहीं। 

Disclaimer: The information contained in the above article are solely for informational purpose after exercising due care.

अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर कर सकते है और हमारे साथ Facebook और Telegram पर भी जुड़ सकते है। 

JOIN US ON TELEGRAM AND FACEBOOK

Spread the love of festival

Leave A Reply

Your email address will not be published.