Masik Shivratri- इस दिन महावरदान की प्राप्ति के लिए करे ये पाठ, जाने पूजाविधि

Spread the love of festival

Masik Shivratri in 2020 vrat vidhi and Shiv Chalisa in hindi

Masik Shivratri 2020- हिन्दू मान्यता के अनुसार हर महीने कृष्ण पक्ष की चतुदर्शी तिथि के दिन मासिक शिवरात्रि मनाई जाती है। अगर मान्यताओं की माने तो इस पावन दिन पर यदि कोई भगवान शंकर की पूजा करता है तो उसे विशेष फल की प्राप्ति होती है। हर महीने एक शिवरात्रि होती है अर्थात कुल मिलाकर साल में 12 मासिक शिवरात्रि होती है।

क्या करें मासिक शिवरात्रि के दिन। (Masik Shivratri ke din kya kare)

वैसे तो इस दिन भगवान शंकर के नाम का व्रत रखा जाता है, लेकिन अगर आप व्रत नहीं रख सकते या नहीं रखना चाहते तो आप इस दिन शिव चालीसा का पाठ जरूर करें। यह पाठ आपको दिन में दो बार यानि सुबह और शाम को करना होगा। ऐसा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते है और आपको सभी कार्यो में विजय प्राप्त होती है। 

Shiv Chalisa- शिव चालीसा को कोई भी व्यक्ति पढ़ सकता है, यह केवल 40 पंक्तियों की होती है जो बहुत ही सरल शब्दों में लिखी होती है। अगर आप मासिक शिवरात्रि के दिन शिव चालीसा पढ़ते है तो भगवान शिव जरूर प्रसन्न होते है। 

कैसे करे शिव चालीसा का पाठ, क्या है पूजा की विधि ? (Masik shivratri vrat vidhi in hindi and Shiv Chalisa)

मासिक शिवरात्रि के दिन सूर्योदय से पहले बिस्तर का त्याग कर दें। 

स्नान करने से पूर्व अपने नहाने के जल में गंगाजल जरूर मिलाये।

पूजा करने के लिए पूर्व दिशा की तरफ मुँह करके आसन पर बैठे।

पूजा में सफ़ेद चंदन, चावल, कलावा, धुप दीप फूल इत्यादि रखें।

शुद्ध मिश्री या मौसमी फलो को भोग के लिए रखे। 

शिव चालीसा का पाठ प्रारम्भ करने से पूर्व धूप-दीप जलाये, जल का कलश रखे और ऊंचे स्वरों में शिव चालीसा का पाठ करें।

पाठ पूरा होने के बाद भगवान शिव की आरती करें और उसके बाद कलश के जल का छिड़काव पुरे घर में करें।

भगवान शिव के लगाए हुए भोग को सभी घर के सदस्यों को बाटे।


Spread the love of festival

Leave A Reply

Your email address will not be published.