Pitra Moksha Amavasya- इस दिन जरूर करें ये उपाए, घर में आएगा सुख समृद्धि

Spread the love of festival

Pitra Moksha Amavasya- पितृ मोक्ष अमावस्या श्राद्ध के आखिरी दिन को होती है, इस अमावस्या के साथ ही श्राद्ध पक्ष समाप्त हो जाता है। इस दिन का श्राद्ध करना फलदायक मन जाता है। अमावस्या (Amavasya) पर किये गए श्राद्ध से पूर्वजो की आत्मा प्रसन्न होती है। जिन पूर्वजो की पुण्यतिथि ज्ञात नहीं हो, उनका श्राद्ध पितृ मोक्ष अमावस्या (Pitra Moksha Amavasya) तिथि को मनाया जाता है।

जाने पितृ मोक्ष अमावस्या पर क्या करे- What to do on Pitra Moksha Amavasya

👉 पितृ अमावस्या वाले दिन सुबह सुबह पीपल के पेड़ के नीचे घर का बनाया हुआ भोजन और पिने योग्य शुद्ध पानी की मटकी रखकर धुप दीप जलाये। 

👉 घर की दक्षिण दिशा की ओर दीवार पर अपने स्वर्गीय परिजनों की फोटो लगाकर उस पर हार चढ़ाएं। पूजा कर उनसे आशीर्वाद मांगने पर पितृदोष से मुक्ति मिलती है।

ये भी पढ़े- Pitru Paksha ke niyam- श्राद्ध में भोजन करने जा रहे हैं तो ये 8 नियम जरूर पढ़ें

👉 जरूरतमंदों अथवा गुणी ब्राह्मणों को भोजन कराएं। 

👉 भोजन में मृतात्मा की कम से कम एक पसंद की वस्तु जरूर शामिल करें। 

👉 भोर में स्नान कर नंगे पैर शिव मंदिर में जाकर आंक के 21 पुष्प, कच्ची लस्सी, बिल्वपत्र के साथ शिवजी की पूजा करें। 

👉 सर्व पितृ अमावस्या पर गरीब कन्या का विवाह या बीमारी में सहायता करने पर लाभ मिलता है। 

👉 सर्व पितृ अमावस्या पर पीपल और बरगद के पेड़ लगाएं। 

👉 विष्णु भगवान के मंत्र जाप, श्रीमद्‍भागवत गीता का पाठ करने से भी पितरो को शांति मिलती है। 

👉 सामर्थ्य के अनुसार गरीबों को वस्त्र और अन्न आदि दान करने से घर में समृद्धि और शांति आती है।

Disclaimer: The information contained in the above article are solely for informational purpose after exercising due care.

अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर कर सकते है और हमारे साथ Facebook और Telegram पर भी जुड़ सकते है। 

JOIN US ON TELEGRAM AND FACEBOOK

Spread the love of festival

Leave A Reply

Your email address will not be published.